Friday, February 23, 2024
HomeInternetडोमेन नाम क्या है और यह कितने प्रकार का होता है?

डोमेन नाम क्या है और यह कितने प्रकार का होता है?

क्या आप जानते है के “Domain Name Kya Hai“? जब भी आप कोई website search किये होंगे तब आपका सामना जरुर Domain Name से हुआ होगा. आप के मन में ये बात जरुर आई होगी की आकिर कोई website और Domain Name का क्या रिश्ता है।

तो में आप लोगों को ये बात दूँ की Domain Name की मदद से हम Internet में website को खोज सकते हैं. हम कह सकते हैं की ये एक friendly naming system जिससे हम किसी Web Pages और Web Servers का पता दे सकते हैं।

डोमेन नाम क्या है (What is Domain Name in Hindi)

इंटरनेट की दुनिया में Domain Name एक ऐसी नामकरण पद्धिति है जिसके द्वारा किसी भी वेबसाइट को इंटरनेट में पहचाना जाता है. डोमेन नाम के द्वारा किसी भी वेबसाइट को इंटरनेट में आसानी से खोजा जा सकता है. डोमेन नाम हमेशा यूनिक होता है मतलब कि दो वेबसाइट का डोमेन नाम कभी एक समान नहीं हो सकता है. जैसे Google.Com, Youtube.Com, Techshole.Com आदि ये सभी डोमेन नाम है.

अगर ऑफलाइन दुनिया से Domain Name को जोड़कर देखें तो हर व्यक्ति के मकान का कुछ न कुछ एड्रेस होता है, जिसके द्वारा उसके घर तक पहुंचा जा सकता है, इसी एड्रेस को ऑनलाइन दुनिया में डोमेन नाम कहते हैं, जिसके द्वारा किसी भी वेबसाइट तक पहुंचा जा सकता है.

डोमेन नाम की परिभाषा ( Definition of Domain in Hindi )

” इंटरनेट की दुनिया में  IP Address (Internet Protocol) के Against जो नाम होता है उसे डोमेन कहते है. “

दरसल हर किसी वेबसाइट के पीछे एक IP (Internet Protocol) एड्रेस जरुर होता है. यह IP एड्रेस नंबर (जैसे – 136.96.84.252) के रूप में होता है. IP एड्रेस के माध्यम से पता किया जा सकता है कि इन्टरनेट में कौन से वेबसाइट कहाँ पर मौजूद है.

IP एड्रेस नंबर के रूप में होने के कारण हर कोई इंसान इसे आसानी से याद नहीं कर सकता है. इसी IP एड्रेस को आसान शब्दों में याद करने के लिए हम डोमेन नाम का प्रयोग करते हैं.

Domain Name काम कैसे करता है ? How Domain Name Works ?

दोस्तों ये थोड़ा सा technical concept है लेकिन मै आपको आसान शब्दों में समझाने की कोशिश करूँगा।

जब आपको किसी वेबसाइट को Visit करना होता है तो आप उस वेबसाइट का domain name अपने web browser में डालते हैं।

फिर आपका कंप्यूटर एक Global Network of Servers जिसे की हम DNS Server कहते हैं उससे उस Website के लिए request करता है।

अब यह DNS Server उस Name server की तलाश करता है जिससे आपकी request की हुई वेबसाइट जुड़ी होती है।

ज्यादातर Web Hosting कम्पनिया अपने खुद के name servers का इस्तेमाल करती हैं। ये name servers भी computers होते हैं जोकि name servers की तरह काम करते हैं।

जब DNS Server को आपकी request की हुई वेबसाइट से जुड़ा हुआ name server मिल जाता है तो वह आपकी request को उस name server तक पहुँचा देता है।

अब यह name server उस कंप्यूटर से संपर्क करता है जिसमे की आपकी request की हुई वेबसाइट की फाइल्स रखी होती हैं और उसे उन फाइल्स को आपके कंप्यूटर तक पहुँचाने का आदेश देता है।

जिस Computer में हमारी वेबसाइट की फाइल्स रखी जाती हैं उस Computer को हम Web Server कहते हैं।

अब अंत में यह Web Server आपकी request पर उस वेबसाइट की files को आपके कंप्यूटर तक पहुँचा देता है जोकि आपको उस वेबसाइट की तरह नजर आतीं हैं।

Domain Names के प्रकार :

दोस्तों Domain Names तीन प्रकार के होते हैं :

Top Level Domain (TLD):

Top Level Domains वो domains होते हैं जो की Domain Name System की लिस्ट में सबसे ऊपरी लेवल में रखे जाते हैं।

सबसे ज्यादा जाना जाने वाला Top Level Domain है .com । इसके अलावा भी कई सारे बहुत ही लोकप्रिय Top Level Domains होते हैं जैसे .net, .org, .info etc.

दोस्तों आजकल बहुत ही अलग-अलग प्रकार के Top Level Domains मॉर्केट में आ गये हैं जैसे .biz, .club, .agency इत्यादि।

हालाँकि आज भी लोग सबसे ज्यादा .com डोमेन को ही लेना पसंद करते हैं।

Country Code Top Level Domain (ccTLD):

ये Domains Country Specific Domains होते हैं। इसका मतलब यह है की हर Country का एक अलग Domain होता है। जैसे India के लिए .in , USA के लिए .us, UK के लिए .uk इत्यादि।

इस प्रकार के domains को वह लोग लेना पसंद करते हैं जो किसी specific country के ट्रैफिक को target करना चाहते हैं।

Sponsored Top Level Domain (sTLD):

दोस्तों ये वो डोमेन होते हैं जोकि किसी specific community को represent करते हैं जैसे .edu जो की educational institutes को represent करता है, .gov जोकि government संस्थानों को represent करता है, .post जोकि postal services को represent करता है इत्यादि।

Domain Name और Web Hosting में क्या अंतर है ? What is the Difference Between Domain Name and Web Hosting ?

दोस्तों Domain Name और Web Hosting दोनों ही अलग-अलग चीजे हैं। लेकिन आपको एक वेबसाइट बनाने के लिए इन दोनों ही चीजों की जरूरत होती है।

Domain Name आपकी वेबसाइट का address होता है जिससे की लोग आपकी वेबसाइट को पहचानते हैं और इसके जरिये आपकी वेबसाइट तक पहुँच पाते हैं। जबकि एक Web Hosting आपकी वेबसाइट का घर होती है जहाँ पर आपकी वेबसाइट की सभी फाइल्स Store रहती हैं।

आप Web Hosting के बारे में ज्यादा जानकारी नीचे दिए हुए लिंक को क्लिक करके पा सकते हैं :

दोस्तों आप में से कुछ लोग सोच रहे होंगे की जब ये दोनों चीजे अलग-अलग हैं तो अगर हम इन दोनों चीजों को अलग-अलग जगह से खरीदते हैं तो इन्हे आपस में connect कैसे करेंगे।

Web Hosting और Domain को आपस में कनेक्ट करना बहुत ही आसान होता है इसके लिए बस आपको पहले अपने Web Hosting Account में अपने Domain को जोड़ना होगा और फिर अपने Domain वाले Account में name servers को बदल देना होगा। दोस्तों ये काम बहुत ही आसान होता है। फिर भी मैंने आपकी मदद के लिए एक बहुत ही detailed पोस्ट लिखा है जिसे की आप पढ़ सकते हैं।

डोमेन नेम की क्यों है आवश्यकता

इंटरनेट पर, आपका डोमेन नाम आपकी वेबसाइट की विशिष्ट पहचान है। इंटरनेट उपस्थिति की योजना बनाने वाले किसी भी व्यक्ति, व्यवसाय या संगठन को डोमेन नाम में निवेश करना चाहिए। आपका अपना डोमेन नाम, वेबसाइट और ईमेल पता होने से आपको और आपके व्यवसाय को एक पेशेवर रूप मिलता है। किसी व्यवसाय के लिए डोमेन नाम पंजीकृत करने का एक अन्य कारण कॉपीराइट और ट्रेडमार्क की रक्षा करना, विश्वसनीयता बनाना, ब्रांड जागरूकता बढ़ाना और खोज इंजन स्थिति बनाना है।

डोमेन नाम वेबसाइट के उद्देश्य को पहचानता है। उदाहरण के लिए, यहां .com डोमेन नाम इंगित करता है कि यह एक व्यावसायिक साइट है। इसी तरह, गैर-लाभकारी संगठन जैसे .org और स्कूल – विश्वविद्यालय .edu डोमेन नाम का उपयोग करते हैं। नीचे दी गई सूची में प्रयोग किये जाने वाले डोमेन नाम और उनके पूरे नाम सूचीबद्ध हैं।

Abbreviation (Extensions)
Full Forms
.com Commercial Internet Sites
.net Internet Administrative Site
.org Organization Site
.edu Education Sites
.firm Business Site
.gov Government Site
.int International Institutions
.mil Military Site
.mobi Mobile Phone Site
.int International Organizations site
.io Indian Ocean (British Indian Ocean Territory)
.mil U.S. Military site
.gov Government site
.store A Retail Business site
.web Internet site
.in India
.au Australia
.ae Arab Emirates
.sa Saudi Arabia
.us United States
.uk United Kingdom
.kh Cambodia
.th Thailand
.cn China
.vn Vietnam
.jp Japan
.sg Singapore
.nz New Zealand
.my Malaysia

Top Domain Name Provider List

अगर आप खुद के लिए या अपने बिज़नस के लिए website बनाना चाहते हैं तो आप खुद भी domain name खरीद सकते हैं, लेकिन उसके लिए आपको किसी अच्छे domain name Service provider से domain में account register कर के नया और unique domain name खरीदना होगा।

निचे मैंने कुछ टॉप Domain Providers की list दे रखी है आपके सहूलियत के लिए. आप इन में से किसी को भी चुन सकते हैं।

Bigrock GoDaddy
Namecheap ZNetLive
IPage Hostinger
Dream Host Google Domains
Domain.com Name.com

डोमेन नाम कैसे बनाये

  • हमेशा Short Domain Name का चुनाव करें जो याद रखने में आसान हो.
  • ऐसा Domain name रखें जो की याद रखने, टाइप करने and बोलने मे easy हो.
  • किसी दूसरे से मिलता जुलता Domain name न हो और तो और काफी Unique हो जिससे आप आसानी से brand कर सकें.
  • इस name मे special character जैसे की hyphen and numbers को यथा संभव न रखें.
  • हमेशा Top Level Domains लेने की कोशिश करे की जिससे की पूरी दुनिया में सभी लोग पहचानते है.
  • आपका Domain name आपके business या business profile से संभंधित या मिलता जुलता होना चाहिए इससे आपको brand बनाने में आसानी होगी.

आकिर में मैं आप लोगों को यह बताना चाहता हूँ की Domain name को हमेशा छोटा और आसानी से याद रहने वाला address होना चाहिए. सही में server का technical address है IP (Internet Protocol Address)।

Domain Name खरीदने के बाद क्या करें?

जब आप एक अच्छा डोमेन नाम खरीद लेते है, तो इसके बाद आपको Hosting की आवश्यकता होती है। अगर आप एक Beginner Blogger है, तो आपको सबसे पहले यह जाना बहुत जरुरी है, की Web Hosting क्या है, वेब होस्टिंग खरीदने के लिए आपको इंटरनेट पर बहुत सारी Company मिल जाती है।

जो की आपको तरह तरह के होस्टिंग प्लांट देती है। Hosting Plant खरीदने के लिए आपको सबसे पहले होस्टिंग वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन करना होता है। इसके बाद आप यहाँ से अपने Budget और Traffic के अनुसार Hosting Plant को Select करें।

जब आप यह सभी Step पुरे कर लेते है, तो इसके बाद आप अपनी Website को FTP या होस्टिंग कंट्रोल पैनल की मदद से Server पर अपलोड कर सकते है। इसके बाद आपकी वेबसाइट कोई कोई भी User आसानी से Internet पर देख सकता है। अगर आपकी वेबसाइट पर किसी तरह के Product है, तो यूजर उन्हें खरीद भी सकता है।

यहाँ पर कुछ विश्वविनिय Hosting प्रोवाइडर कंपनी है, इनमे से आप अपने Budget के अनुसार किसी भी कंपनी से होस्टिंग खरीद सकते है। सभी कंपनियां कुछ इस प्रकार है –

  • DomainRacer
  • Hostinger
  • Godaddy
  • Bluehost
  • Bigrock
  • HostGator
  • A2 Hosting
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments